Fast Learning Tips

जल्दी सीखने के लिये Fast Learning Tips

Fast Learning Tips

Fast Learning Tips – हाय दोस्तों क्या आपको पता हैं-
एक कॉमन इंसान अपनी पूरी जिन्दगी में एक भी Skills में Outstanding नहीं हो पाता, अगर आप किसी भी फील्ड में जाओगे तो बहुत मेहनत करनी पड़ेगी और हमारा समय भी ज्यादा लगेगा।

आज हम जिन Tips के बारें में बात करेंगें अगर आप ने उन तरीकों को अच्छे से अपनायेंगे तो, आप भी अपनी Life में कोई भी Skills जल्दी सीखना चाहते हो उसे कम समय में सीख जाओगे।

Summary

Learning meaning in Hindi.

What is learning / लर्निंग क्या हैं ?

जल्दी सीखना क्यों जरुरी होता हैं /

जल्दी सीखने के तरीके / Tips fast learning.

जल्दी सीखने से फायदे

Fast Learning Tips Meaning in Hindi

What is learning / लर्निंग क्या हैं ?

लर्निंग – ज्ञान और विशेषज्ञता प्राप्त करने की प्रक्रिया।

Learning-

सीखना – एक प्रक्रिया जो परिवर्तन की ओर ले जाती है, जो अनुभव के परिणामस्वरूप होती है, और बेहतर प्रदर्शन और भविष्य के सीखने की क्षमता को बढ़ाती है।

जल्दी सीखना क्यों जरुरी होता हैं / Why necessaries fast learning.

एक कॉमन इंसान अपनी पूरी जिन्दगी में एक भी Skills में Outstanding नहीं हो पाता। अगर आप किसी भी फील्ड में जाओगे तो बहुत मेहनत करनी पड़ेगी और हमारा समय भी ज्यादा लगेगा इस लिए हमें फास्ट लर्निंग यानि जल्दी सीखना आना चाहिये।

जल्दी सीखने के तरीके / Tips fast learning.

1- माइक्रो को सीखना-

2- जीतना हारना –

3- ज्यादा प्रैक्टिस की आदत –

4- बच्चे की तरह स्वतंत्र भावना रखें –

5- एक सही साथी ढूंढें जो आपको अपने कौशल में बढ़ने में मदद करें –

6- अपनी कमियों पर काम करना.

स्टूडेंट्स के लिये बेस्ट टाइम टेबल –

Best time table

—- माइक्रो को सीखना —– Learning the macro from the micro.

जब भी हम कुछ नया सीखते हैं तो हमें एक छोटे से स्टेप से सीखना चाहिए –
जब हम उस छोटे से स्टेप को समझ जाएं फिर हमें मार्को यानी बड़े स्टेप भी समझ आयेंगे, यानी पूरी प्रक्रिया समझ आयेगी।

अगर बात करें पढ़ाई में इसको कैसे शामिल करें हमें एक कॉन्सेप्ट को समझ कर / सीख कर,उस कॉन्सेप्ट से जुडी सारी बातें अच्छे से समझ जाएंगे फिर आगे की भी स्टेप फिर अपने आप समझ आते जाएंगे।

जीतना हारना / Losing to win

हमें जीतने के लिए बहुत बार हारना पड़ेगा बार बार हारना बहुत Emotional event होता हैं, लेकिन यही एक शक्तिशाली बनने का रास्ता हैं।


अगर हम अध्यन कि बात करें तो कई सारे छात्र मोक टेस्ट नहीं देते, वो सोचते हैं जब सिलेबस पूरा होगा तभी टेस्ट देंगे । ये एक बहाना हैं जो हम खुद बोलते हैं, असली में हमें पता है अगर हमारे कम नंबर आयेंगे तो हमें दुख होगा ।


लेकिन Losing to win के हिसाब से हमें ये स्थिति का सामना करना ही पड़ेगा. वरना हम अपने कंफर्ट जोन में रह जाएंगे, और हम कभी भी अपने आप को आगे नहीं बड़ा पाएंगे।

जब हम हार जाए / काम नंबर आए तो हमें अपनी गलती को समझ लेना चाहिए और उस गलती को दोहराना मत।

जरुरी सूचना –

देखो दोस्तों जब बात कॉम्पटीशन की होती हैं तो जीतना बेस्ट होता है,जब बात learning की हो तब सीखना बेस्ट होता हैं। हमारा एजुकेशन सिस्टम भी हमें फेल होने डरता है, जिससे हम सिर्फ पास होने लायक ही बचते हैं. कुछ सीखने लायक नहीं बचते।

नोट–
ये कहने में तो आसान हैं कि अपनी गलती को दोहराना नहीं चाहिए, Actually में इसे सुधारने में हमें कई दिन लग जाते हैं । हमें काम करते समय कौन सी गलती बार बार करते हैं उस समझो और उस गलती को सुधारना ही चाहिए इस लिए जितना हो सके उतना तरी करो सीखने का, समझने। कॉन्सेप्ट बिना फेल होने कि फिकर करें।

अब्राहिम लिंकन ने कहा हैं –अगर आपको लाइफ में सक्सेसफुल होना है तो बहुत जरुरी हैं कि आप अपने आप को Sharp करों। अपने आप को तैयार करों। नयी नयी चीजें सीख कर या Book Reading SE भी अपने आप को Sharp कर सकते हो –

Reading Advantages –

A -हमारी मेमोरी पॉवर बढती हैं।
B- हमारी सोच Flexible होती हैं।
C- Personal Growth बढ़ती हैं।
D- हमारा व्यक्तित्व सुधार जाता हैं।
E- बात करने का तरीका बदलता है 
E- बातों को नये तरीके से बोलने के लिये नये शब्द मिलते हैं।
F- Imagination and Visualization Power बढती हैं।
G- Creative Power बढ़ती हैं।
H- Problem solving Power बढती हैं।
I- Relax एंड फील फ्रेश होता है।

अपना Syllabus जल्दी Complete करना है तो ये वीडियो आप के लिए ही हैं –

sullabus jaldi complite kaise kare.

ज्यादा प्रैक्टिस की आदत —

आप को अगर एक्स्पर्ट बनना हैं तो, बहुत सी चीजें गलत होगी । ये इसलिये होता हैं ताकि आप को Emotional डिस्टर्ब किया जा सके और अपने आगे के स्टेप को प्लान ना कर सकें।

नोट – अगर हमें हर चीज एक्सपर्ट होना हैं, तो गलतियों को प्रैक्टिस का हिस्सा मानना पड़ेगा।

“बच्चे की तरह स्वतंत्र भावना रखें” –

जब हम बच्चे होते है तो हमें हारने से डर नहीं लगता। हमारे सपने इतने बड़े होते हैं कि हम हमको लगता है कि हम कुछ भी प्राप्त कर लेंगे, जैसे जैसे हम बड़े होते हैं हमें नई नई चीजों का पता चलने लगता हैं ।

हम लोगों को हारते देखते हैं और उनकी हार को अपनी हार मानने लगते हैं. Age के साथ साथ अपनी झूठी इमेज बना लेते हैं,जिससे हमें रिस्क लेने डर लगता हैं।

नोट—
हमें कुछ नया सीखना हैं तो एक बच्चे कि तरह करियोसिटी से भरा होना चाहिए । जो फेल होने से ना डरता हो,जिसके लिए हर चीज आसान हो और माइंड में कोई लिमिटेशन नहीं होती।

 

एक सही साथी ढूंढें जो आपको अपने कौशल में बढ़ने में मदद करेगा / Find a right partner who will help you grow in your skills” ?

 

अगर आपको नये स्किल्स और नई चीजें सीखना हैं, तो आपको ऐसे पार्टनर के साथ रहना चाहिए. जो उन स्किल्स में एक्सपर्ट हो, जो आपका भला चाहता हों,जो आपको सपोर्ट करें. इससे आप दोनों  दूसरे की मदद कर सकते हो।

नोट –
एक सही पार्टनर रखो जो सही डायरेक्शन दे।

अपनी कमियों पर काम करना Fast Learning Tips

हमें अपनी कमियों पर काम करना चाहिए।इससे पहले कि हालात हमें मजबूर कर दे, उन्हीं कमियों पर काम करने  लिए । ये बहुत जरूरी हैं जो हमारे लिए जरूरी हैं उस स्किल्स पर काम करे.

 नोट – जैसे कि आपको लगता हैं कि अगर आपको आप किसी विषय में अच्छे नहीं हो तो आपको उस विषय के लिए ट्यूशन लेनी चाहिए/ इन्टरनेट से भी पड़ सकते हो ।

जिससे आपका विषय और भी अच्छे। से समझ पाओगे।अगर आप उस विषय को अनदेखा करोगे तो आपको फिर से वही विषय पड़ता अच्छे से पड़ना पड़ेगा।

नोट- जिससे आपका विषय और भी अच्छे से समझ पाओगे। अगर आप उस विषय को अनदेखा करोगे तो आपको फिर से वही विषय पड़ता अच्छे से पड़ना पड़ेगा।

……………………………………………………………………………………………………………………………..

A – Passive v/s Active learning

B – Deep learning

Passive v/s Active learning – Fast Learning Tips

Best method”

ये तरीका बेहतर हैं कुछ भी सीखने का इसे ध्यान से समझना –

ज्यादातर लोगों को लगता हैं उनको कुछ सीखना है या याद करना हैं, तो उसके लिए उन्हें जितना हो सके उतनी सूचना अपने दिमाग को देनी होगी। आपको भी ऐसा लगता होगा।

Actually में हमें कोई भी चीजें याद , दिमाग में चीजें आने के वजह , दिमाग से चीजें निकलने के वजह से होती हैं।

Example

एक लड़के को इंग्लिश सीखना हैं , इसके लिए वह क्या करेगा – ज्यादा से ज्यादा इंग्लिश टिटोरियल वीडियो देखेगा, क्लासेस जायेगा जहा उस बैठ कर सिखाया जायेगा कि इंग्लिश कैसे बोलनी चाहिए।

लेकिन समस्या ये हैं कि बैठ के सीखना, देखना,या सुनना ये Passive learing होती हैं। इसमें input jyada हैं output कम,इसीलिए ये बहुत कम इफेक्टिव होते हैं।

Active learning आप में अपने ब्रेन में ज्यादा से ज्यादा उपयोग करना पड़ता हैं, कुछ आउटपुट देना पड़ता हैं वजह इनपुट लेने के,यही चीज बेस्ट होती हैं learning लिये

Example
सीखने और सुनने की वजह- इंग्लिश खुद से बोलना, किसी से बात करना ,खुद से प्रैक्टिस करना ये तरीका बेस्ट हैं इंग्लिश सीखने के लिए। इससे आप ब्रेन ज्यादा उपयोग होगा हैं।


2Deep learning यानी चीजों को समझना – कॉन्सेप्ट समझना जो भी हो रहा हैं क्यू हो रहा है वजह रट्टा मार के चीजों को try करना। थोड़ा डीप मेहनत करों-

जो स्टेप आप ले रहे वो क्यू के रहे हो इसको complete करने से क्या होगा। मतलब अपना (Why) क्लियर करो । Fast Learning Tips


Deep thinking se आप चीजों के पीछे का साइंस समझोगे,जो आपको दूसरे नए काम सीखने में बहुत हेल्प करेगा । हम ज्यादातर शॉर्टटर्म सोचते हैं इसी लिए दीप Learner बनों।

नोट –
Be A Deep Learner आप हमेशा नहीं पर Maximum Time Deep डीप लर्नर बनो।

आइये दोस्तों एक बार ऐसे समराइज कर लेते है –

1-
जिस चीज को हम अच्छे से सीखना चाहते हैं,उसमे हमें छोटी चीज से शुरू करना पड़ेगा। यानी पहले एक स्टेप को लेकर बहुत अच्छे होना हैं,फिर अगला स्टेप लेना हैं।

२-
जीतने के लिए हमें कई बार हारना पड़ेगा, ताकि हम अपने स्किल्स में जल्दी अच्छे हो जाएं। ओबेस्ली हमें
दुख होगा ,अगर आप इस इमोशन को हैंडल कर लेगा आखिर वही Winner होगा।

3-
कई बार ऐसा होगा की आप ज्यादा काबिल होंगे,लेकिन विनर किसी बना दिया जायेगा या आपके साथ अनफेयर चीजें होंगी। आपको बुरा मानने वजह, उसे अपने काम का हिस्सा मानना चाहिए और आगे बढ़ते रहना चाहिए।

4-
एक बच्चे कि तरह हमें फेल होने से नहीं डरना चाहिए, और लोगों के फैलियार को खुद की लिमिटेशन ना माने। सब कुछ संभव है अगर आप विश्वास करो तो।

5-
अगर कोई हमें हमारी स्किल्स में हमारा कोई पार्टनर मिल जाए,तो हम उसकी मदद से जल्दी आगे बाद जायेंगे।

6-
हमें हमारी स्किल्स के बारे में सब पता होना चाहिएं, इससे पहले कि समय हमें मजबूर करें। हमें खुद ही अपने आप में बदलाव लाना चाहिए

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *